संग्रहालयों से प्रेरणा लेकर भावी पीढ़ियां स्वंय को निखार सकती हैः श्री तोमर

सप्रे संग्रहालय एक उत्कृष्ट संस्थान

विधानसभा अध्यक्ष श्री तोमर ने माधवराव सप्रे संग्रहालय नवीनकृत वेबसाइट का शुभारंभ किया

मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को राजधानी में माधवराव सप्रे संग्रहालय में आयोजित कार्यक्रम में संग्रहालय की नवीनकृत वेबसाइट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने संग्रहालय की पत्रिका आंचलिक पत्रकार के पांच सौ वे अंक का भी विमोचन किया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय मानव संग्रहालय के निदेशक श्री अमिताभ पाण्डेय, संग्रहालय के संस्थापक पद्मश्री विजय दत्त श्रीधर, अध्यक्ष डॉ. शिवकुमार अवस्थी, उपाध्यक्ष श्री चंद्रकांत नायडू, पत्रकार एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

इस अवसर मुख्यअतिथि के रूप में अपने संबोधन में विधानसभा अध्यक्ष श्री तोमर ने कहा कि संग्रहालय हमारी विरासत को प्रदर्शित करने वाला होते हैं और यह एसी प्रेरणा केंद्र होते हैं कि जिसका उपयोग करके भावी पीढ़ियां स्वंय को निखार सकती हैं। श्री तोमर ने कहा कि  संग्रहालय निर्माण करना और उसका संचालन करना एक तरह से रूखा काम है। लेकिन एसे रूखे कार्य में पूरी साधना से कार्य करना, प्रतिकूल अवस्था में आगे बढ़ना और सफल होकर मील का पत्थर स्थापित करने का कार्य श्रीधर जी और संग्रहालय के दूसरे साथियों ने किया है।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि एक जमाना था जब संग्रहालय पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र हुआ करते थे, लेकिन समय के साथ यह आकर्षण कम हुआ है और इस कारण से कई संग्रहालय दुर्दशा के शिकार हो रहे हैं। लेकिन विगत दशक में देश में कई नए संग्रहालय स्थापित हुए हैं। श्री तोमर ने कहा कि दिल्ली में बने प्रधानमंत्री संग्रहालय का यहां उल्लेख करना आवश्यक है। यह संग्रहालय अपने आप में अद्भुत है, और देश के सभी प्रधानमंत्रियों की पूरी जानकारी यहां प्राप्त हो सकती है।

उन्होंने कहा कि जब मैं पूर्व में आया था तो संग्रहालय शैशव अवस्था में था, लेकिन यह श्रीधर जी व उनकी टीम की साधना है कि संग्रहालय आज एक उत्कृष्ट केंद्र के रूप में स्थापित हो चुका है और राष्ट्रीय स्तर पर ही नहीं वैश्विक स्तर पर अपने ज्ञान का लाभ पहुंचा रहा है।